Tears


Tears, originally uploaded by !!sahrizvi!!.

About jugnoo

I am Jugnoo. Jugnoo means in our local language " an insect who lightens at night" so i think i am not an insect but a person who is trying to spread some light by sharing of knowledge & information through my blog. So this is me "Jugnoo"
This entry was posted in Helpless, Old, People. Bookmark the permalink.

4 Responses to Tears

  1. FSD PU says:

    मधुर प्रतीक्षा ही जब इतनी, प्रिय तुम आते तब क्या होता?

    मौन रात इस भांति कि जैसे, कोई गत वीणा पर बज कर,
    अभी-अभी सोई खोई-सी, सपनों में तारों पर सिर धर
    और दिशाओं से प्रतिध्वनियाँ, जाग्रत सुधियों-सी आती हैं,
    कान तुम्हारे तान कहीं से यदि सुन पाते, तब क्या होता?

    तुमने कब दी बात रात के सूने में तुम आने वाले,
    पर ऐसे ही वक्त प्राण मन, मेरे हो उठते मतवाले,
    साँसें घूमघूम फिरफिर से, असमंजस के क्षण गिनती हैं,
    मिलने की घड़ियाँ तुम निश्चित, यदि कर जाते तब क्या होता?

    उत्सुकता की अकुलाहट में, मैंने पलक पाँवड़े डाले,
    अम्बर तो मशहूर कि सब दिन, रहता अपने होश सम्हाले,
    तारों की महफिल ने अपनी आँख बिछा दी किस आशा से,
    मेरे मौन कुटी को आते तुम दिख जाते तब क्या होता?

    बैठ कल्पना करता हूँ, पगचाप तुम्हारी मग से आती,
    रगरग में चेतनता घुलकर, आँसू के कणसी झर जाती,
    नमक डलीसा गल अपनापन, सागर में घुलमिलसा जाता,
    अपनी बाँहों में भरकर प्रिय, कण्ठ लगाते तब क्या होता?

  2. kiran says:

    hi i m kiran and my number is 03218986265

  3. Tricouri says:

    Wow ..the sadness. !!!

  4. nice says:

    hi kiran contect me 03136905930

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s